Dosti Shayari : Beautiful Dosti Shayari In Hindi

Dosti Shayari, Dosti Shayari Hindi, Best Dosti Shayari, Beautiful Dosti Shayari, Best Friend Shayari, Shero Shayari On Dosti, Dosti ki Shayari, Dosti SMS

 AAKHIR KAISE CHOR DU TUMSE MOHABBAT KARNA
TUM QISMAT ME NA SAHI PAR DIL ME TO HO
आखिर कैसे छोड़ दू तुमसे मोहब्बत करना है
तुम किस्मत में न सही पर दिल में तो हो

Dosti Shayari In Hindi

AB DAR LAGTA HAI MUJHE UN LOGON SE
JO KEHTE HAIN MERA YAQEEN KRO
अब दर लगता है मुझे उन लोगों से
जो कहते हैं मेरा यकीन तोह करो

DIN BEETH JATE HAI SUHANI YAADEIN BAN KAR
BAATEIN RAHE JATI HAI KAHANI BAN KAR
PAR DOST TO HAMESHA DIL KE QAREEB RAHETE HAI
KABHI MUSKAAN TO KABHI AANKHON KA PANI BAN KAR

दिन बीत जाते है सुहानी यादें बन कर
बातें रहे जाती है कहानी बन कर
पर दोस्त तो हमेशा दिल के करीब रहेते है
कभी मुस्कान तो कभी आँखें का पानी बन कर

रिश्ते निभाना हर किसी के बस की बात नहीं
अपना दिल भी दुखाना पड़ता है किसी और की खुसी के लिए
RISHTE NIBHANA HAR KISI K BUS KI BAAT NAHI
APNA DIL BHI DUKHANA PADTA HAI KISI AUR KI KHUSI K LIYE

DIN HUWA TO RAAT BHI HOGI
HU MAT UDAAS KABHI BAATH BHI HOGI
ITNE PIYAAR SE DOSTI KI HAI
ZINDAGI RAHI TO MULAQAT BHI HOGI

Beautiful Dosti Shayari

दिन हुवा तो रात भी होगी
हु मत उदास कभी बात भी होगी
इतने पियार से दोस्ती की है
ज़िन्दगी रही तो मुलाक़ात भी होगी

तकदीर लिखने वाले एक एहेसान करदे
मेरे दोस्त की तकदीर में एक और मुस्कान लिख दे
न मिले कभी दर्द उनको
तो चाहे तो उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे

TAKDEER LIKHNE WALE EK EHSAAN KARDE
MERE DOST KI TAKDEER MEIN EK AUR KUSKAAN LIKH DE
NA MILE KABHI DARD UNKO
TO CHAHE TO USKI KISMAT MEIN MERI JAAN LIKH DE

कुछ लोग भोल कर भी भुलाये नहीं जाते
ऐतबार इतना है की आजमाय नहीं जाते
हु जाते है दिल में इस तरह सामिल की
उनके ख्याल दिल से मिटाए नहीं जाते

Shero Shayari On Dosti

KUCH LOG BHUL KAR BHI BHULAYE NAHI JAATE
AITBAAR ITNA HAI KI AAZMYE NAHI JAATE
HO JAATE HAI DIL MEIN IS TARAH SAMIL KI
UN KE KHAYAL DIL SE MITYE NAHI JAATE

दोस्ती वो नही जो जान देती है
दोस्ती वो भी जो मुस्कान देती है
अरे सच्ची दोस्ती तो वो है
जो पानी में गिरा आसूं भी पहेचन लेती है

हमें नफरत पसंद है लेकिन
दिखावे का पियार नहीं
HAME NAFRAT PASAND HAI LEKIN
DIKHAVE KA PIYAAR NAHI

SAB KI ZINDAGI MEIN KHUSIYAN DENE WALE DOST
TERI ZINDAGI MEIN KOI GUM NA HU
TUJHE TAB BHI DOST MILTE RAHE ACCHE ACCHE
JAB IS DUNIYA MEIN HUM NA HU

सब की ज़िन्दगी में खुशियाँ देने वाले दोस्त
तेरी ज़िन्दगी में कोई गम न हु
तुझे तब दोस्त मिलते रहे अच्छे अच्छे
जब इस दुनियां में हम न हो

Also Read : Romantic Shayari