Happy Makar Sankranti

Happy Makar Sankranti, Makar Sankranti Shayari, Happy Makar Sankranti 2018, Makar Sankranti in Hind, Makar Sankranti Wishes, Makar Sankranti image, Makar Sankranti SMS, Happy Sankranti Wishes, Makar Sankranti images in Hindi, Makar Sankranti Wishes in Hindi, Happy Makar Sankranti Status, Happy Makar Sankranti Quotes, Shayari

Happy Makar Sankranti

Happy Makar Sankranti

Bajare Ki Roti, Nimbu Ka Achar, Suraj Ki Kirne,
Chand Ki Chandani Aur Apno Ka Pyaar.
Har Jeevan Ho Khushal Mubarak Ho
Aapko Sankranti Ka Tyohar.


बिन सावन बरसात नहीं होती
सूरज डूबे बिन रात नहीं होती
अपनी तो आदत है ऐसी
आपको विश किये बिन किसी त्यौहार की शुरुवात नहीं होती

Patango Ki Bahar Yuvaon Ka Pyar, Mubarak Ko Aapko Sakranti Ka Ye Tyonhaar

सोचा किसी अपने से बात करे
अपने किसी खाश को याद करे
किया जो फैसला मकरसंक्रांति की सुभकामनाये देने का
दिल ने कहा क्यों न अपने से शुरुवात करे


Pag Pag Sunehre Phool Khilen Kabhi Bhi Na Ho Kaanton Ka Saamna Zindagi Aapki Khushi Se Bhari Rahe Ye Hi Hai Hamari Manokaamna

सूरज की राशि बदलेगी
बहुतों की किस्मत बदलेगी
यह साल का पहला पर्व होगा
जब हम सब मिलकर खुशियाँ मनायेगें अपार

Ugta Hua Suraj Dua De Aapko,
Khilta Hua Phool Khushbu De Aapko,
Hum To Kuch Dene Ke Kabil Nahi Hai,
Dene Wala Hazaar Khushiyan De Aapko


दिल को धडकन से पहले
दोस्तों को दोस्ती से पहले
प्यार को मोहब्बत से पहले
ख़ुशी को गम से पहले
आपको कुछ दिन पहले
मकरसक्रांति की सुभकामना सबसे पहले

Mithi Bole, Mithi Zubaan,
Makar Sankranti Ka Yehi Hai Paigaam,
Take Sweet, Talk Sweet, Be Sweet..

सर्दी की इस सुबह पड़ेगा हमे नहाना
मकरसक्रांति का पर्व कर देगा मोसम सुहाना
दिन भर पतंग हमें है उड़ाना
कहीं गुड कही तिल के लड्डू मिल कर हमें है खाना

Makar Sannkrati ke din aapke jeevan ka andhera chhat jaye aevam gyan aur prakash se aapka jeevan ujjwal ho jaye!!

गुल को गुलशन मुबारक हो
चाँद को चांदनी मुबारक हो
शायर को शायरी मुबारक हो
और हमारी तरफ से आप को

Tan Me Masti, Maan Me Umang Chalo Sare Ek Sang Aaj Udayein Aakash Me Patang Uchale Hava mein Sankranti Ke Rang MakarSankranti ki Shubhkamnaye Happy Makar Sankranti 2018


तन में मस्ती मन में उमंग
देकर सबको अपनापन गुड में जैसे मीठापन
होकर साथ हम उड़ायें पतंग
और भर ले आकाश में अपने रंग

Mandir ki ghanti, Arti ki thali,
Nadi k kinare suraj ki lali,
Jindige me aye khushiyo ki bahar,
Aapko mubarak ho sankrant ka tyohar


तन में मस्ती
मन में उमंग
चलो सारे एक
संग आज उड़ायें
आकाश में पतंग
उछाले हवा में संक्रांति के रंग

Pal Pal Sunahre phool Khile,
Kabhi Na Ho Kanto Ka Samna,
Jindagi Aapki Khushiyo Se Bhari Rahe,
Sankranti Par Hamari Yahi Shubhkamna


मंदिर की घंटी
आरती की थाली
नदी के किनारे
सूरज की लाली
ज़िन्दगी में आये
खुशियों की बहार
मुबारक हो आपको
मकरसंक्रांति का यह त्यौहार

मीठे गुड में मिल गये तिल
उडी पतंग और खिल गये दिल
हर दिन सुख और हर पल शांति
मुबारक हो आपको ये मकरसंक्रांति


काट ना सके कभी कोई पतंग आप की
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की
छु लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी
जैसे पतंग छूती है ऊंचाईया आसमान की

सब दोस्तों को मिले सहमती
आज है मकरसंक्रांति
स्वीट दोस्त उग गये दिनकर
उडाए पतंग हम सुब मिलकर
आकाश हो पतंग से अट्टे
सुनाओ वो मारा वो काटा