Respect Shayari

Respect Shayari, Self Respect Status, Respect Shayari in Hindi , Respect Quotes in Hindi, Respect SMS in Hindi, Respect Hindi Shayari, Love And Respect Quotes, New Respect Shayari, Latest Respect Shayari, Top Respect Shayari, Best Respect Shayari, Samman Shayari, Samman SMS, Samman Status In Hindi, रिस्पेक्ट शायरी, Shayari

Respect Shayari

Respect Shayari

हर पतंग जानती हैं,
अंत में कचरे में जाना हैं,
लेकिन उसके पहले हमें,
आसमान छूकर दिखाना हैं…


Respect Shayari

हम ने मोहब्बत के नशे में,
आकर उसे खुदा बना डाला,
होश तब आया जब उसने कहा कि
ख़ुदा किसी एक का नही होता…

किसी की क्या मजाल थी जो कोई हमें खरीद सकता,
हम तो खुद ही बिक गए ख़रीददार देखकर…

Waqt Noor Ko Benoor Kar Deta Hai,
Chhote se Zakhm Ko Nasoor Kar Deta Hai,
Kaun Chahta Hai Apno Se Dur Rehna,
Par Waqt Sabko Majboor Kar Deta Hai.

वक़्त नूर को बेनूर कर देता है,
छोटे से जख्म को नासूर कर देता है,
कौन चाहता है अपनों से दूर रहना,
पर वक़्त सबको मजबूर कर देता है


Kisi Ko Dil Diwana Pasand Hai,
Kisi Ko Dil Ka Najrana Pasand Hai,
Auron Ki Toh Khabar Nahi Lekin,
Mujhe Toh Apno Ka Muskurana Pasand Hai.

किसी को दिल दीवाना पसंद है,
किसी को दिल का नजराना पसंद है,
औरों की तो मुझे ख़बर नही लेकिन,
मुझे तो अपनो का मुस्कुराना पसंद है


Waqt Ka Pata Nahi Chalta Apno Ke Saath,
Par Apno Ka Pata Chalta Hai Waqt Ke Saath,
Waqt Nahi Badalta Apno Ke Saath,
Par Apne Jarur Badal Jate Hain Waqt Ke Saath.

वक़्त का पता नहीं चलता अपनों के साथ,
पर अपनों का पता चलता है वक़्त के साथ,
वक़्त नहीं बदलता अपनों के साथ,
पर अपने ज़रूर बदल जाते हैं वक़्त के साथ


Ek Ajeeb Si Daud Hai Yeh Zindgi,
Jeet Jao Toh Kayi Apne Pichhe Chhut Jate Hain,
Aur Haar Jao Toh Apne Hi Pichhe Chhod Jate Hain.

एक अजीब सी दौड़ है ये ज़िन्दगी,
जीत जाओ तो कई अपने पीछे छूट जाते हैं,
और हार जाओ तो अपने ही पीछे छोड़ जाते हैं।


Hone Wale Khud Hi Apne Ho Jaate Hain,
Kisi Ko Kah Kar Apna Banaya Nahi Jata.
होने वाले ख़ुद ही अपने हो जाते हैं,
किसी को कहकर अपना बनाया नहीं जाता।


Mujhe Gumaan Tha Ke Chaha Bahut Sabne Mujhe,
Main Azeez Sabko Tha Magar Jarurat Ke Liye.
मुझे गुमान था कि चाहा बहुत सबने मुझे,
मैं अज़ीज़ सबको था मगर ज़रूरत के लिए।


So Ja Aye Dil Ke Ab Bahut Dhundh Hai Tere Shahar Mein,
Apne Dikhte Nahi Aur Jo Dikhte Hain Woh Apne Nahi.
सो जा ऐ दिल कि अब धुन्ध बहुत है तेरे शहर में,
अपने दिखते नहीं और जो दिखते हैं वो अपने नहीं।

Kuchh Log Toh Isliye Apne Bane Hain Abhi,
Ke Meri Barbadi Ka Deedar Kareeb Se Ho.
कुछ लोग तो इसलिये अपने बने हैं अभी,
कि मेरी बर्बादी का दीदार करीब से हो।


इल्जाम तो लगती रही रोज नई-नई हम पर,
मगर जो सबसे हसीं इलज़ाम था वो तेरा नाम था…

माना मौसम भी बदलते हैं मगर धीरे-धीरे,
तेरे बदलने की रफ़्तार से तो हवाएँ भी हैरान हैं…


दुनियादारी में हम थोड़े कच्चे हैं,
पर दोस्ती के मामले में सच्चे हैं,
हमारी सच्चाई बस इस बात पर कायम हैं,
कि हमारे दोस्त हम से भी अच्छे हैं…

मैं बड़ो की इज्जत इसलिए करता हूँ,
क्योकि उनकी अच्छाईयाँ मुझसे ज्यादा हैं,
और छोटो से प्यार इसलिए करता हूँ,
क्योकि उनके गुनाह मुझसे कम हैं…


इज्जत और तारीफ़ माँगी नही जाती हैं,
इसे दोस्तों कमाई जाती हैं…
बड़े बुजुर्ग की उंगलियों में
कोई ताकत तो न थी,
जब झुका सर मेरा तो कापते हाथों ने
जमाने भर की दौलत दे दी…

Respect Shayari