Shariya

Shariya, Sariya Hindi, Sariya, Sariya in Hindi, Sariya Hindi, हिन्दी शायरिया, शायरिया, Sariya in English, Sariya Hindi, Sariya, Sariya in Hindi, Sariya Hindi,  Sariya in English, Shariya In Hindi, Hindi Shariya, हिन्दी शायरिया, शायरिया, हिन्दी शायरियाँ, शायरियाँ, Shariyan, Hindi Shariyan, Shariyan In Hindi, Shayari

Shariya

Shariya

MUHABBAT KI GINTI DO SE SHURU HOTI HAI
AUR DO PAR KHATAM HOTI HAI
AGAR EK KAM HU JAYE TO PAO KE NICHE SE ZAMEEN NIKAL JATI HAI
AUR EK SE ZYADA HO JAYE TO
DIL SE YAQEEN NIKAL JATA HAI


Shariya

मुहब्बत की गिनती दो से शुरू होती है
और दो पर ख़तम होती है
अगर एक कम हो जाये तो पाओ के नीचे से ज़मीन निकल जाती है
और अगर एक ज्यादा हो जाये तो
दिल से यकीन निकल जाता है

JAHAN AAP KI IZZAT NA HO WAHAN MAT JAO
CHAHE WAHAN KHANA AAP KO SONE KI PILET AUR
CHANDI KE CHAMCHE MEIN HI KYUN NA DIYA JAYE

Shariya

Hindi Shariyan

Hindi Shariyan


जहाँ आप की इज्ज़त ना हो वहां मत जाओ
चाहे वहां खाना आप को सोने की पिलेट और
चांदी के चमचे में ही क्यूँ ना दिया जाये

NARAM DIL LOG BEWAQUF NAH HOTE
WO JANTE HAI KE LOG IN KE SAATH KIYA KHEL
KHEL RAHE HAI LEKIN PHIR BHI WO NAJAR ANDAAZ KARTE HAI
KYUN KE IN KE PASS EK KHUBSURAT DIL OTA HAI


नरम सिल लोग बेवकूफ नहीं होते
वो जानते है के लोग इन के साथ क्या खेल
खेल रहे है लेकिन फिर भी वो नजर अंदाज़ करते है
क्यूँ के इन के पास एक खुबसूरत दिल होता है

Shariya

Sariya Hindi

Sariya Hindi


BAHUT SI BAATEIN AYSI HOTI HAI K IN KE JAWAB MEIN HUM SIRF
THIK HAI KE ELAAWA KUCH NAHI KAHE SAKTE
HAALA KE WO KISI BHI TARAH SE THIK NAHO HOTE


बहुत सी बातें ऐसी होती है के इन के जवाब में हम सिर्फ
ठीक है के इलावा कुछ नहीं कहे सकते
हाला के वो किसी भी तरह से ठीक नहीं होते

HAKIHAT MEIN FAIDA WAHI LOG UTHAYENGE
JO DUNIYA MEIN HI JAAG GAYE HAI
KYUN KE QAYAMAT KE DIN SABHI KI AANKHEN KHUL JAYEGI

Shariya

Sariya in English

Sariya in English


हकीकत में फ़ायदा वही लोग उठायेंगे
जो दुनिया में ही ज़ाग गए है
क्यूँ के क़यामत के दिन सभी की आँखें खुल जाएगी

SABR EK AYSI SAWARI HAI JO APNE SAWAAR KO
KABHI GIRNE NAHI DETI
NA KISI KE KADMO MEIN
AUR NA HI KISI KI NAJRO MEIN

Shariya

Sariya

Sariya


सब्र एक ऐसी सवारी है जो अपने सवार को
कभी गिरने नहीं देती
ना किसी के कदमों में
और ना ही किसी की नजरों में

KISI INSAAN KI KHUBI DEKHO TO ISE BAYAA KRO
LEKIN AGAR KHAAMI MIL JAYE TO WAHAN
TUMHARI KHUBI KA IMTEHAAN HAI


किसी इंसान की खूबी देखो तो इसे बयाँ करो
लेकिन अगर खामी मिल जाये तो वहां
तुम्हारी खूबी का इम्तेहान है
Shariya English

Shariya English


AAYINA JAB BH UTHAYA KRO PHELE DEKHA KRO
PHIR DIKHAY KRO
आईना जब उठाया करो पहले देखा करो
फिर दिखाया करो


KUCH LOG ITNA ACCHA SABAK SEEKHA DETE HAI
KE PHIR SAARI ZINDAGI KISI AUR SE KUCH
SEEKHINE KI TALAB MAHESOOS HI NAHI HOTI

Shariyan In Hind

Shariyan In Hind


कुछ लोग इतना अच्छा सबक सीखा देते है
के फिर सारी ज़िन्दगी किसी और से कुछ
सीखिने की तलब महेसूस ही नहीं होती

MERI JAAT EK AISA PHOOL HUWI JIS SE KHUSBU RO SAB NE CHAHI
MAGAR PAANI DENE KA KHAYAL KISI KO NA AAYA
मेरी जात एक ऐसा फूल हुई जिससे खुशबु तो सब ने चाहा
मगर पानी देने का ख्याल किसी को ना आया

Shariya