Shayari For Jaan : Jaan Shayari In Hindi

Shayari For Jaan, Jaan Shayari, जान शायरी, Meri Jaan Shayari, Shayari For Jaan In Hindi, Jaan Shayari In Hindi, Meri Jaan Shayar In Hindi, जान हिन्दी शायरी

सुना था मोहब्बत मिलती है मोहब्बत के बदले
हमारी बरी ई तो रिवाज़ ही बदल गया

Shayari For Jaan

Shayari For Jaan

Shayari For Jaan

SUNA THA MOHUBBAT MILTI HAI MOHUBBAT KE BADLE
HAMARI BAARI AYI TO RIWAAZ HI BADAL GAYA

Jaan Shayari

आँखों की नजर से नहीं हम दिल की नजर से पियार करते है
आप देखे या न देखे फिर भी हम आप का दीदार करते है

Hindi Shayari For Jaan

Hindi Shayari For Jaan

AANKHON KI NAJAR SE NAHI HUM DIL KI NAJAR SE PIYAAR KARTE HAI
AAP DEKHE YA NA DEKHE PHIR BHI HUM AAP KA DIDAR KARTE HAI

जान शायरी

बोहुत खुशनसीब हु में की उठाकर उसने सीने से लगाया
वरना टूटी चीज़ों को लोग फेक देते है

BOHUT KHUSHNASEEB HU MEIN KI UTHAKAR USNE SEENE SE LAGAYA
WARNA TOOTHI CHEEZEN KO LOG FAKE DETE HAI

Meri Jaan Shayari

मोहब्बत है तुमसे इस् लिए नजर अंदाज़ नहीं किया कभी
वरना बेरुखी तुमसे बहेतर जनता हूँ

Jaan Shayari In Hindi

Jaan Shayari In Hindi

MOHUBBAT HAI TUMSE IS LIYE NAJAR ANDAAZ NAHI KIYA KABHI
WARNA BERUKHI TUM SE BAHETAR JANTA HUN

Shayari For Jaan In Hindi

हाल तोह पुच लूँ तेरा पर डरता हूँ आवाज़ से तेरी
जब जब सुनी है कम्बखाथ मोहब्बत ही हुई है

Jaan Shayari

Jaan Shayari

HAAL TOH PUCH LUN TERA PAR DARTA HUN AWAAZ SE TERI
JAB JAB SUNI HAI KAMBAKHATH MOHUBBAT HI HUI HAI

Jaan Shayari In Hindi

बस एक तुझे जीतने के लिए
में अपना सब कुछ हार जाओं

Latest Jaan Shayari

Latest Jaan Shayari

BUS EK TUJHE PANE KE LIYE
MEIN APNA SAB KUCH HAAR JAON

Meri Jaan Shayar In Hindi

वक़्त कितना भी बदल जाये मेरी
मोहब्बत तुम्हारे लिए कभी नहीं बदलेगी

Meri Jaan Shayar In Hindi

Meri Jaan Shayar In Hindi

WAQT KITNA BHI BADAL JAYE MERI
MOHUBBAT TUMHARE LIYE KABHI NAHI BADLEGI

जान हिन्दी शायरी

फिर मोहब्बत करनी है तुमसे तो शुरुवात वही से कर
जिस जगह से तुमने मुझसे बड़ी नफरत से देखा था

Meri Jaan Shayari

Meri Jaan Shayari

PHIR MOHUBBAT KARNI HAI TUM SE TO SHURUWAT WAHI SE KAR
JIS JAGAH SE TUMNE MUJHE BADI NAFRAT SE DEKHA THA


ढूंढ तो लेते तुम्हे हम सहर में इतनी भीड़ भी नथी
पर रुख दी तलाश हमने क्यूंकि तुम खोये नहीं बदल गए थे

New Jaan Shayari

New Jaan Shayari

DHOONDH TO LETE TUMHE HUM SAHER MEIN ITNI BHID BHI NA THI
PAR RUKH DI LATASH HUMNE KYUNKI TUM KHOYE NAHI BADAL GAYE THE


मत कर हिसाब मेरे पियार का कही
ऐसा नहीं के बाद में तो ही करजदार निकले

Shayari For Jaan In Hindi

Shayari For Jaan In Hindi

MAT KAR HISAAB MERE PIYAAR KA KAHI
AISA NAHI KE BAAD MEIN TO HI KARAZDAAR NIKLE

Also Read : Romantic Shayari