Yoga Day Shayari

Yoga Day Shayari, योग शायरी, Yoga Shayari, Yoga Day Quotes In Hindi, Yoga Day SMS, Yoga Day SMS In Hindi, योगा शायरी, Hindi Yoga Day Shayari, Yoga Day Shayari Hindi, New Yoga Day Shayari

Yoga Day Shayari

Yoga Day Shayari

जिस तरह से मोबाइल फोन हमारे जीवन का हिस्सा बन गया है ठीक उसी प्रकार आप योग को भी अपने जीवन का एक हिस्सा बना सकते हैं


Yoga Day Shayari

स्वास्थ सबसे बड़ा उपहार हैं,
संतोष सबसे बड़ा धन हैं,
यह दोनों योग से ही मिलते हैं.


कमजोरियाँ हमारे अंदर डर पैदा करती हैं,
योग उन्हें दूर करता हैं.


योग से सिर्फ रोगों, बीमारियों से छुटकारा ही नही मिलता है बल्कि यह सबके कल्याण की गारंटी भी देता है


आज के इस भागमभाग भरी जिन्दगी में हम सब अपने आप से ही अलग हो गये है
इसलिए योग हमें अपने आप से पुन: जोड़ने में में मदद करता है


योग हमारी कमियों पर प्रकाश डालता हैं
उन्हें दूर करने का नया रास्ता तलाशता हैं


योग हमारे जीवन की शक्ति,
ध्यान करने की क्षमता और उत्पादकता को बढ़ाता है
योग मनुष्य के शरीर, मन और भावना को स्थिर और नियंत्रित भी करता है


योग बहुत ही आश्चर्यजनक है इससे हमारे स्वास्थ्य की समस्याएं दूर तो होती हैं
तथा साथ में खुद का अवलोकन होता भी होता है


एक सर्जन हमेसा गर्भवती महिलाओं को योग का अभ्यास करने के लिए सलाह देता हैं क्योंकि योग के द्वारा उन्हें स्वस्थ रहने में मदद मिलती है


योग भी अब व्यवसाय के रूप में बदल रहा है और कई लोगों को रोजगार भी प्रदान कर रहा है


योग के बारे में यह कभी भी मत सोचिये की योग से क्या मिल सकता है बल्कि योग के द्वारा हम क्या नही प्राप्त कर सकते है


हमारे पास प्राचीनकाल में स्वास्थ्य बीमा नहीं था लेकिन हम सभी के के पास योग एक ऐसा अभ्यास है जो बिना एक पैसे खर्च किये हमारे स्वास्थ्य की गारंटी आश्वासन देता है


योग किसी भी व्यक्ति के लिए संभव है जो वास्तव में इसे चाहता है योग सार्वभौमिक है …
लेकिन व्यावहारिक लाभ की तलाश में एक व्यवसाय के दिमाग से योग का दृष्टिकोण नही करना चाहिए


जो कोई व्यक्ति भी अभ्यास करता है वह योग के द्वारा सफलता प्राप्त कर सकता है
लेकिन आलसी व्यक्ति के लिए योग का कोई महत्व नहीं है और निरंतर अभ्यास अकेले सफलता का रहस्य है

योग एक धर्म नहीं है बल्कि यह एक विज्ञान, कल्याण का विज्ञान,
युवाता का विज्ञान, शरीर को नियंत्रित करने, मन और आत्मा का विज्ञान है


योग सिर्फ आत्म सुधार के बारे में नहीं बतलाता है,
बल्कि यह आत्म स्वीकृति के बारे में सिखाता है


मैं योग को प्यार करता हूँ क्योंकि यह न केवल यह हमारे शरीर के लिए कसरत है
बल्कि हमारी श्वास भी है जो अत्यधिक तनाव को मुक्त करने में मदद करता है
योग सचमुच हमे दिन की दिनचर्या के लिए तैयार करता है

कहा जाता है कि एक व्यक्ति को योग के द्वारा स्वयं के साथ मिलना है
जब पूरी तरह अनुशासित होकर अपने मन से सभी इच्छाओं से नियन्त्रण प्राप्त कर लेते हैं तब हम अपने आप को जान पाते है